HomeTally ERP 9

Tally मे Cost Center क्या है? Create Cost Center in Tally

Hello dosto, क्या आपका कोई business है जिसकी काफी सारी branches अलग-2 states में है? अगर आपको अपने सभी branches की details को जानना है तो आप क्या करेगे, अगर आपको ये जानना है कि मेरी इस particular branch में कितने रुपये की selling हुई है, कितने रुपये का stock अभी है आदि सभी जानकारी को अगर आप जानना चाहते है तो आप किस तरह से जान सकते है? आज हम इसी topic पर आपसे बात करेगे, वैसे बहुत ही दिनों से मेरे पास मेरे एक user की request आ रही थी कि cost center क्या है, तो आज के इस article में मैं आपको बताउगा की Tally में Cost Center क्या है? Explain cost center in brief in hindi? Tally में Cost Center कैसे बनाये? Cost center के क्या फायदे है? सभी जानकारी आज के इस आर्टिकल में जाने।

Tally में Cost Center क्या है?What is Cost Center in Tally ERP 9? पूरी जानकारी जाने

Cost center का basically use business में particular अलग 2 branches की details को maintain करने के लिए बनाया जाता है। अगर हमको अलग 2 branches की details को maintain करना है तो हम cost center का use करते है। देखा जाए तो companies में Income और Expenses दोनो ही होती है, और इन incomes और Expenses को अलग 2 व्यक्ति में proper तरिके से devide करने को हम cost center कहते है।

आइये एक उदाहरण से Explain करते है?

Suppose मेरा एक कपड़े का business है और उसका एक office Lucknow में है, एक branch chandigad में है और एक branch हमारी Mumbai में है, तो suppose आपको अलग 2 branches की details को check करना है तो उसके लिए आप cost center का use करके आसानी से सभी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

cost center kaise banaye deepesh

इन सभी आर्टिक्ल को पढ़े:-

अब जैसे आपको ये पता करना है कि आपकी Lucknow वाली branch में total कितनी sales हुई, कितने रुपये का माल हमने purchase किया, कितना stock अभी हमारे पास बचा है, कितना stock बिक गया आदि। मतलब की अगर आप अपने business में अलग 2 branches की reports को check करना चाहते है और आप चाहते है कि पूरे branches की सभी details sale, purchase incomes और Expenses आखिर क्या है तो ऐसी condition में हम cost center की मदद से ये सभी details को बहुत ही आसानी से देख सकते है।

Cost center जो कि अधिकतर टैली में use किया जाता है वो है normally हम cost को कैसे जानना चाहते है, जैसे कि हमारे किसी organization में कई सारे Department होते है like:- Accounts department, Administrator Department, Sales Department, Engineering Department आदि। अब हम ये चाहते है कि हर एक department में कितना Expenses हुआ, उसकी पूरी report को जानने के लिए हम cost center का use करते है।

Tally में Cost Center Option को कैसे Active करे? आइये जाने।

Tally में Cost Center को Active करने के लिए आपको कुछ Simple Steps को follow करना होगा, आइये जाने।

STEP:1-सबसे पहले आप gateway of tally में जाये और F11 Features के option पर click करे।

STEP:2 अब आप Accounting features के option में जाये।

STEP:3- यहां आपको Cost/Profit center management में Maintain Cost center का option दिखाई देगा उसको yes करे।

cost center active

Tally में Cost Center कैसे बनाये? पूरी जानकारी।

Tally में Cost Center की Entry करने के लिए आपको कुछ Simple procedure को Step by step follow करने है, आइये जाने

STEP:1-Tally में Cost center एंट्री के लिए सबसे पहले आप Gateway of tally में जाये और Accounts Info में जाकर click करे।

STEP:2- Accounts info में आपको Cost Center दिखाई देगा आप simply उस पर click करे then Cost center को create करने के लिए Create के option में click करे। Show the Screenshort

cost center create

STEP:3- यहाँ आपको 3 Cost center create करने होंगे, जैसा हमने ऊपर example में बताया कि हमारी Head office Lucknow में है और हमारी 2 branch Chandigadh और Delhi में है ऐसी condition में हमे सभी brances को Cost center में create करना होगा।

Head Office Lucknow 

आप Head office lucknow को cost center में ऐसे create करेगे, Category में आप simply Primary cost Category को select करेगे, Name में आप Cost centre का नाम type करेगे और Under में इसको primary के अंदर रखकर Save कर लेंगे।

cost center create

Chandigad Branch Office Creation

इसी तरह से आप Chandigadh Branch के लिए cost center  create करेगे, Category में आप simply Primary cost Category को select करेगे, Name में आप Cost centre का नाम type करेगे और Under में इसको आप Head Office Luncknow के अंदर रखेगे क्योंकि Head office Lucknow के andar ही हम इन सभी branch को create कर रहे है, सभी details को fillup करने के बाद finally Save कर लेंगे।

chandigad branch

Delhi Branch Office Creation

As it इस आप Delhi Branch के लिए cost center  create करेगे, Category में आप simply Primary cost Category को select करेगे, Name में आप Cost centre का नाम type करेगे और Under में इसको आप Head Office Luncknow के अंदर रखेगे और सभी details को fillup करने के बाद finally Save कर लेंगे।

delhi branchइस तरह से आप अपनी सभी branch को cost center में create कर ले।

STEP:4-Cost Center को Voucher में entry करने के लिए अगर आप चाहते है कि branch पूछे कि आपको किस branch में voucher entry को करना है तो उसके लिए आपको दुबारा से F11 press करके Accounting voucher में जाना होगा।

Cost Center Setting

यहाँ आपको Cost/profit centers Management में जाये और use predefined cost centre allocations in transaction option को yes करे।

cost center yes

Cost Center Class Creation

जैसे ही आप option को yes करेगे, आपके सामने Cost center classes का एक पेज open हो जाएगा,यहाँ आपको अपने head office का नाम type करना है और Enter करना है। show the screenshot plz

head office lucknow create

All Cost Centers Classes Creation (Lucknow, Chandigarh and Delhi Branch)

Head office lucknow को enter करने के बाद आपको primary cost category के अंदर head office lucknow को लेना है, इसी तरह से Chandigadh branch के लिए आपको primary cost category के अंदर chandigadh branch को लेना है, same as it is Delhi branch को भी primary cost category के अंदर Delhi branch को रखना है।

Then finally आपको इस setting को save कर लेना है, अगर आप इस setting को save नही करेगे तो voucher entry के time tally आपसे ये नही पूछेगा की आपको किस barnch में entry करनी है, ईये ये setting required है cost center के regarding। 

cost center yes setting

STEP:5-Cost center की सभी settings करने के बाद अब आपको voucher entry करना है, हम यहाँ पर अपनी सभी branch के लिए कुछ items को खरिद रहे है जिसकी entry कुछ इस तरह से है तो आइये देखते है।

A:- Cost Center Entry (Payment Voucher–Head Office Lucknow)

Lucknow जो हमारा Head office है उसमें कैसे entry करेगे Cost center की आइये उसके कुछ steps आपके साथ discuss करे।

voucher entry lucknow branch

Payment Voucher Entry के मुख्य Steps:-

payment voucher में हम सबसे पहले Head office lucknow के लिए एक computer को खरिद रहे है, इसके लिए आप payment voucher में जाये और Cost center Class में select करे कि आपको किस branch के regarding entry करनी है उसको select करे then तब entry post करे।

First STEP:-: सबसे पहले आपको Computer का ledger Create करना होगा, Cost Center Create करते वक़्त Computer का Ledger इस तरह से Create करेगे, क्यूकी Ledger बनाते समय आपको Cost Center are applicable को yes करना है तभी Voucher Entry Cost Center मे कर सकेगे। 

Computer का Ledger Cost Center मे ऐसे Create करे

computer ledger Lucknow branch

Next STEP:-Computer का ledger Create करने के बाद Simply Computer को Debit करेगे जो भी amount होगा, और cash को credit करेगे। then entry को save kar लेगे।

B:- Cost Center Entry (Payment Voucher–Chandigadh Branch)

Chandigadh branch में किस तरह से Payment की entry करे आइये कुछ steps से आपको समझाते है।follow it

voucher entry chandigad branch

Chandigarh Branch Payment Voucher Entry के मुख्य Steps:-

इसी तरह आप chandigadh branch के regarding entry के लिए payment voucher में जाये और Cost center Class में जाकर chandigad branch select करे then तब entry post करे।

First STEP:-: सबसे पहले आपको Bike का ledger Create करना होगा, Chandigarh branch मे Cost Center Create करते वक़्त Bike का Ledger इस तरह से Create करेगे, क्यूकी Ledger बनाते समय आपको Cost Center are applicable को yes करना है तभी Voucher Entry Cost Center मे कर सकेगे। 

Bike का Ledger Cost Center मे ऐसे Create करे

bike ledger chandigad branch

Next STEP:-:Bike का ledger Create करने के बाद Simply Bike को Debit करेगे,जो भी amount होगा, और cash को credit करेगे। then entry को save kar लेगे।

C:- Cost Center Entry (Payment Voucher–Delhi Branch)

Delhi branch में किस तरह से Payment की entry करे आइये कुछ steps से आपको समझाते है।just follow it

voucher entry delhi branch

Delhi Branch Payment Voucher Entry के मुख्य Steps:-

As it is आप इसी तरह Delhi branch के regarding entry के लिए payment voucher में जाये और Cost center Class में जाकर Delhi branch select करे then तब entry post करे

First STEP:-: सबसे पहले आपको Car का ledger Create करना होगा, Delhi branch मे Cost Center Create करते वक़्त Car का Ledger इस तरह से Create करेगे, क्यूकी Ledger बनाते समय आपको Cost Center are applicable को yes करना है तभी Voucher Entry Cost Center मे कर सकेगे। 

Car का Ledger Cost Center मे ऐसे Create करे

car ledger delhi branch

NEXT STEP:-Car का ledger Create करने के बाद Simply Bike को Debit करेगे,जो भी amount होगा, और cash को credit करेगे। then entry को save kar लेगे।

तो finally इस तरह से हमने cost center में अलग 2 branches के लिए अलग 2 expense किये, जिसकी report को आप tally में अलग 2 branch wise details को आसानी से देख सकते है कि कौन सी branch में कितना expense हुआ है।

Tally के Cost Center की reports कैसे check करे? आइये जाने

जब आप tally में Cost center को create कर ले तो आपको Cost center की reports को देखने के लिए कुछ steps follow करने होंगे।

STEP:1-Cost center की reports को देखने के लिए सबसे पहले आप Gateway of tally में Display के option में जाये

STEP:2- Display में आपको Statement of accounts show होगा उस पर click करे then आप cost center पर click करे और cost center की report को देखने के लिए category summary पर जाकर click करे।

cost center check

STEP:3- जैसे ही आप category summary पर click करेगे आपके सामने cost center की पूरी report branch wise showहो जाएगी कि किस branch में कितने का expense हुआ है।

csot center report

इस तरह से आप आसानी से अपनी सभी branches में हो रहे expense को देख सकते है इससे आपको पता चलता है किस branch की क्या position है।

Cost Center के आखिर क्या 2 फायदे है? Benefits of Cost Center.

देखा जाए तो cost center के बहुत सारे benefits है आइये कुछ important benefits को जानते है।

1:- सबसे बड़ा benefits ये है कि cost center की मदद से आप अपने business की हर एक branch की reports को आसानी से देख सकते है।

2:- अक्सर हम सभी के साथ ऐसा होता है कि इतनी busy लाइफ में हम हर एक branch को proper way में मैनेज नही कर पाते कि branch में किस चीज की कमी है, क्या expenses required है तो ऐसे में हम अगर reports जान सके तो आसानी से इस problems को solve किया जा सकता है और cost center हमको यही सुविधा प्रदान करता है।

3:- Cost center की मदद से हम कही से किसी भी laptop या computer की मदद से tally के जरिये जान सकते है कि हमारी किस branch की क्या financial position है, क्या reports है उसी के according हम अपने business को और grow कर सकते है।

Technical Cube Tally Hindi Notes free Download

ebook

Free Sample Download Now

Tally Hindi Notes को Buy कैसे करे ??

Tally Hindi Notes Buy only 20 rs

 

इन सभी आर्टिक्ल को पढ़े:-

पोस्ट से संबन्धित सारांश:-

आज के इस पोस्ट मे मैंने आपको बताया कि Tally में Cost Center क्या है? Explain cost center in brief in Hindi? Tally में Cost Center कैसे बनाये? Cost center के क्या फायदे है? cost center kya hai Hindi me jane.

Cost Center से सम्बंधित अगर आपको कोई भी Problem हो तो आप मुझे मेल कर सकते है। मैं जल्दी ही आपकी परेशानी को दूर करने की पूरी कोशिश करुगा।

मैं उम्मीद करता हु की ये आर्टिक्ल आपको  पसंद आया होगा, अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो इसको सोश्ल मीडिया पर अपने दोस्तो के साथ जरूर से शेयर कीजिए, जिस से उनको भी ये जानकारी प्राप्त हो सके।

आपको इस Article में क्या पसंद आया, कृपया जरूर बताए, और अगर आपका कोई सवाल हो तो आप नीचे Comment करे, आपको मैं Instant जवाब देने की पूरी कोशिश करूंगा।

Plz Apna Review जरूर दे, आपको हमारी website मे क्या पसंद आया जरूर बताए, नीचे दिये बटन पर click करके review जरूर लिखे।

Review on Technical Cube

Ask Any Question Plz Tell Me:- Ask the Question

share Technicalcube

इस ये Article को पढ़ने के लिए धन्यवाद ! Technical Cube मे दुबारा Visit करे.

Comments (2)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *